Home breaking-news Govardhan Puja 2023:कल है गोवर्धन पूजा, जानें पूजन विधि, शुभ मुहूर्त और महत्व – Govardhan 2023 Date Puja Timing Shubh Muhurat Puja Vidhi Mantra Annakut Puja In Hindi

Govardhan Puja 2023:कल है गोवर्धन पूजा, जानें पूजन विधि, शुभ मुहूर्त और महत्व – Govardhan 2023 Date Puja Timing Shubh Muhurat Puja Vidhi Mantra Annakut Puja In Hindi

0
Govardhan Puja 2023:कल है गोवर्धन पूजा, जानें पूजन विधि, शुभ मुहूर्त और महत्व – Govardhan 2023 Date Puja Timing Shubh Muhurat Puja Vidhi Mantra Annakut Puja In Hindi

Govardhan Puja 2023:कल है गोवर्धन पूजा, जानें पूजन विधि, शुभ मुहूर्त और महत्व – Govardhan 2023 Date Puja Timing Shubh Muhurat Puja Vidhi Mantra Annakut Puja In Hindi
https://staticimg.amarujala.com/assets/images/2023/11/08/750×506/govardhan-puja_1699432348.jpeg

Govardhan 2023 date Puja Timing Shubh Muhurat Puja Vidhi Mantra annakut puja In Hindi

Govardhan Puja 2023: गोवर्धन पूजा 2023 तिथि, पूजा विधि, मुहूर्त और महत्व
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


Govardhan Puja 2023: कार्तिक माह में शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि पर गोवर्धन पूजा का पर्व मनाया जाता है। यह पर्व दिवाली के अगले दिन आता है। गोवर्धन पूजा को अन्नकूट के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन गोवर्धन पर्वत, भगवान श्री कृष्ण और गौ माता की पूजा की जाती है। इस दिन लोग घर की आंगन में या घर के बाहर गाय के गोबर से गोवर्धन पर्वत की आकृति बनाते हैं और पूजा करते हैं। साथ ही इस दिन भगवान श्रीकृष्ण को विभिन्न प्रकार के व्यंजनों का भोग लगाया जाता है। ऐसे में चलिए जानते हैं गोवर्धन पूजा की तिथि, शुभ मुहूर्त और महत्व के बारे में…

कब है गोवर्धन पूजा 2023?

इस साल कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि की शुरुआत 13 नवंबर दिन सोमवार को दोपहर 02 बजकर 56 मिनट से हो रही है। इस तिथि का समापन अगले दिन 14 नवंबर, दिन मंगलवार को दोपहर 02 बजकर 36 मिनट पर होगा। उदया तिथि को देखते हुए गोवर्धन पूजा 14 नवंबर मंगलवार को मनाई जाएगी।

गोवर्धन पूजा 2023 का शुभ मुहूर्त

14 नवंबर 2023, दिन मंगलवार को गोवर्धन पूजा के लिए शुभ मुहूर्त सुबह 06 बजकर 43 मिनट से लेकर सुबह 08 बजकर 52 मिनट तक है।

गोवर्धन पूजा पर बन रहे ये योग

इस बार गोवर्धन पूजा के दिन शुभ योग बन रहे हैं। गोवर्धन पूजा पर शोभन योग प्रात:काल से लेकर दोपहर 01 बजकर 57 मिनट तक है। उसके बाद से अतिगंड योग शुरू हो जाएगा। अतिगंड योग शुभ नहीं होता है। हालांकि शोभन योग को एक शुभ योग माना जाता है। इसके अलावा गोवर्धन पूजा के दिन सुबह से ही अनुराधा नक्षत्र होगी।

गोवर्धन पूजा विधि

  • गोवर्धन पूजा के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नानादि करें।
  • फिर शुभ मुहूर्त में गाय के गोबर से गिरिराज गोवर्धन पर्वत की आकृति बनाएं और साथ ही पशुधन यानी गाय, बछड़े आदि की आकृति भी बनाएं।
  • इसके बाद धूप-दीप आदि से विधिवत पूजा करें।
  • भगवान कृष्ण को दुग्ध से स्नान कराने के बाद उनका पूजन करें।
  • इसके बाद अन्नकूट का भोग लगाएं।

गोवर्धन पूजा का महत्व

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार भगवान कृष्ण द्वारा ही सर्वप्रथम गोवर्धन पूजा आरंभ करवाई गई थी। श्रीकृष्ण ने गोवर्धन पर्वत तो अपनी उंगली पर उठाकर इंद्रदेव के क्रोध से ब्रज वासियों और पशु-पक्षियों की रक्षा की थी। यही कारण है कि गोवर्धन पूजा में गिरिराज के साथ कृष्ण जी के पूजन का भी विधान है। इस दिन अन्नकूट का विशेष महत्व माना जाता है। 

#Govardhan #Puja #2023कल #ह #गवरधन #पज #जन #पजन #वध #शभ #महरत #और #महतव #Govardhan #Date #Puja #Timing #Shubh #Muhurat #Puja #Vidhi #Mantra #Annakut #Puja #Hindi